मैं सावरकर पर राहुल गांधी की टिप्पणी से सहमत नहीं हूं: उद्धव

मुंबई/अकोला. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी पार्टी वी. डी. सावरकर का बहुत सम्मान करती है और वह स्वतंत्रता सेनानी पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी की टिप्पणी से सहमत नहीं हैं. शिवसेना के एक धड़े के प्रमुख ठाकरे ने यहां पत्रकारों से बातचीत में यह भी पूछा कि केंद्र ने हिंदुत्व विचारक सावरकर को भारत रत्न क्यों नहीं दिया. उन्होंने कहा, ‘‘हम सावरकर पर राहुल गांधी की टिप्पणी को स्वीकार नहीं करते हैं. वीर सावरकर के प्रति हमारे मन में अपार सम्मान और आस्था है और इसे खत्म नहीं जा सकता.’’ उनके बेटे एवं महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे पिछले सप्ताह राहुल गांधी के नेतृत्व वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल हुए थे.

अपनी यात्रा के तहत मंगलवार को वाशिम जिले में आयोजित एक रैली के दौरान गांधी ने कहा था कि सावरकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रतीक हैं. कांग्रेस सांसद ने कहा था, ‘‘वह (सावरकर) दो-तीन साल तक अंडमान में जेल में रहे. उन्होंने दया याचिकाएं लिखनी शुरू कर दीं.’’ गांधी ने दावा किया था, ‘‘सावरकर ने खुद पर एक अलग नाम से एक किताब लिखी थी और बताया था कि वह कितने बहादुर थे. वह अंग्रेजों से पेंशन लेते थे, उनके लिए काम करते थे और कांग्रेस के खिलाफ काम करते थे.’’ इसके बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ ंिशदे ने उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट पर निशाना साधा था.

इसका जवाब देते हुए, उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘यह हास्यास्पद है जब माता-पिता या उनकी संतान (जाहिर तौर पर आरएसएस और भाजपा का जिक्र करते हुए) जिनका स्वतंत्रता संग्राम से कोई संबंध नहीं है, सावरकर के लिए प्यार व्यक्त करते हैं.’’ उन्होंने कहा कि आरएसएस 100 साल पूरे कर रहा है, लेकिन यह स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा नहीं था. उन्होंने कहा कि उन्हें सावरकर के बारे में बात करने का अधिकार नहीं है.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘सावरकर जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए बलिदान दिया … उसी स्वतंत्रता की आज भी रक्षा करने की जरूरत है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब राहुल गांधी सावरकर के बारे में कुछ कहते हैं तो आप हमसे सवाल पूछते हैं.’’ उद्धव ठाकरे ने 2015 में भाजपा और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के बीच हुए गठबंधन का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘मैंने विधानसभा में यह पूछा था कि क्या यह देशभक्ति है जब आप उस पीडीपी (जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली पीडीपी) के बगल में बैठते हैं जो न तो ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाती है और न ही ‘वंदे मातरम्’ गाती है.’’

जिनका वर्तमान या भविष्य नहीं है उन्हें इतिहास पर नहीं बोलना चाहिए: कांग्रेस नेता का सांसद तंज

एकनाथ ंिशदे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट से संबद्ध लोकसभा सदस्य राहुल शेवाले द्वारा महाराष्ट्र में ‘भारत जोड़ो’ यात्रा को रोकने की मांग किए जाने के एक दिन बाद कांग्रेस नेता यशोमति ठाकुर ने बृहस्पतिवार को उन पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनका कोई वर्तमान या भविष्य नहीं है उन्हें इतिहास पर नहीं बोलना चाहिए.

महाराष्ट्र की पूर्व मंत्री ठाकुर हिंदुत्व विचारक वी डी सावरकर के खिलाफ कांग्रेस नेता राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर यात्रा रोकने की शेवाले की मांग पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रही थीं. राहुल गांधी ने ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के तहत मंगलवार को वाशिम जिले में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सावरकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रतीक हैं.

कांग्रेस सांसद ने कहा था, ‘‘वह दो-तीन साल तक अंडमान में जेल में रहे. उन्होंने दया याचिकाएं लिखनी शुरू कीं.’’ शेवाले ने सावरकर के खिलाफ टिप्पणी को लेकर बुधवार को यहां सावरकर मेमोरियल में हिंदुत्व विषय पर आयोजित एक संगोष्ठी में गांधी की आलोचना की और कहा कि दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी का अपमान किए जाने की वजह से राज्य में ‘भारत जोड़ो’ यात्रा को रोका जाना चाहिए.
गांधी के नेतृत्व में हो रही कांग्रेस की पैदल यात्रा वर्तमान में राज्य से होकर गुजर रही है.

ठाकुर ने शेवाले का नाम लिए बिना एक ट्वीट में कहा, ”जिनका कोई वर्तमान या भविष्य नहीं है, उन्हें इतिहास पर नहीं बोलना चाहिए. राहुल गांधी नफरत की फैक्टरी और इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश करने के खिलाफ बोल रहे हैं. उनकी इस टिप्पणी से आहत संघ परिवार अपने द्वारा रखे गए लोगों को बोलने के लिए कह रहा है.” शेवाले और 11 अन्य शिवसेना सांसद पार्टी के एकनाथ ंिशदे खेमे में शामिल हो गए थे, जिसे अब ‘बालासाहेबंची शिवसेना’ नाम दिया गया है. इस साल जुलाई में, ंिशदे और 39 अन्य शिवसेना विधायकों के विद्रोह के कुछ दिन बाद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार गिर गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button