मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बांग्लादेश, मालदीव समेत कई देशों के नेता हो सकते हैं शामिल

नयी दिल्ली. बांग्लादेश, श्रीलंका, मालदीव, भूटान, नेपाल, मॉरीशस और सेशेल्स के शीर्ष नेताओं के सप्ताहांत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने की संभावना है. आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. ऐसी जानकारी है कि भारत ने पहले ही बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे और समारोह में शामिल होने के लिए चुने गए देशों के कुछ अन्य नेताओं को निमंत्रण भेज दिया है.

नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दाहाल ‘प्रचंड’, मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग टोबगे, मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ और सेशेल्स के राष्ट्रपति वेवल रामकलावन उन नेताओं में शामिल हैं जिन्हें मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया गया है. मोदी लगातार तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने लोकसभा चुनाव में 293 सीट पर जीत दर्ज की है. मोदी के नौ जून को शपथ लेने की संभावना है.

मुइज्जू को दिया गया निमंत्रण इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण संबंधों के बीच आया है. भारत और मालदीव के बीच संबंध पिछले वर्ष नवंबर से काफी तनावपूर्ण हो गए थे, जब चीन समर्थक रुख रखने वाले मुइज्जू ने मालदीव के राष्ट्रपति का पदभार संभाला था. शपथ लेने के कुछ ही घंटों के भीतर उन्होंने अपने देश से भारतीय सैन्यर्किमयों की वापसी की मांग की थी.

राष्ट्रपति विक्रमसिंघे के कार्यालय के मीडिया प्रभाग ने बुधवार को बताया कि मोदी ने फोन पर बातचीत के दौरान उन्हें शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया. विक्रमसिंघे ने आमंत्रण स्वीकार कर लिया. मोदी ने बुधवार को हसीना से फोन पर भी बातचीत की. फोन पर बातचीत में मोदी ने हसीना को उनके शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्योता दिया और उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया. राजनयिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. मोदी ने प्रचंड और जगन्नाथ से फोन पर बातचीत की.

भूटान के प्रधानमंत्री टोबगे ने बृहस्पतिवार को मोदी को फोन कर राजग की जीत पर बधाई दी. क्षेत्रीय समूह सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) देशों के नेताओं ने मोदी के पहले शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया था, जब उन्होंने आम चुनाव में भाजपा की भारी जीत के बाद प्रधानमंत्री के रूप में कार्यभार संभाला था. वर्ष 2019 में मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों के नेता शामिल हुए थे, जब वह लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री बने थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button