पंजाब: सरकारी स्कूल की छत गिरने से शिक्षिका की मौत

लुधियाना. पंजाब में लुधियाना के फिरोजपुर रोड पर बद्दोवाल में स्थित एक सरकारी स्कूल की छत बुधवार को गिरने से 45 वर्षीय शिक्षिका की मौत हो गई जबकि तीन अन्य अध्यापिकाएं घायल हो गईं. पुलिस ने यह जानकारी दी. मामले का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मामले की मजिस्ट्रेट जांच और स्कूल परिसर में नवीनीकरण का काम करने वाले ठेकेदार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया.

घटना उस वक्त हुई जब सरकारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के स्टाफ रूम में चार शिक्षिकाएं बैठी हुई थी. पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) दीपकरण सिंह तूर ने बताया कि उन्हें एक निजी अस्पताल ले जाया गया जहां रविंदर कौर को मृत घोषित कर दिया गया.
पुलिस ने बताया कि छत गिरने के कारण का तत्काल पता नहीं चल सका है.

उसने कहा कि तीन अध्यापिकाएं नरिंदरजीत कौर, सुखजीत कौर और इंदु रानी का इलाज किया जा रहा है और उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. घायलों से मुलाकात करने के बाद लुधियाना की उपायुक्त (डीसी) सुरभि मलिक ने कहा कि लुधियाना ग्रामीण पुलिस ठेकेदार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर रही है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने दुर्घटना का संज्ञान लिया है और मामले में सख्त कार्रवाई का आदेश दिया है. मलिक ने कहा कि स्कूल भवन की सुरक्षा का आकलन करने का आदेश दिया गया है और इमारत को सील भी कर दिया गया है. उन्होंने स्कूल के आसपास रहने वाले लोगों से इमारत का आकलन पूरा होने तक उसके पास नहीं जाने को कहा.

डीसी ने कहा कि दुर्घटना की जानकारी मिलते ही प्रशासन के कई दलों को घटनास्थल पर भेजा गया और मलबे में दबी चार शिक्षिकाओं को निकालने के लिए भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवानों को बुलाया गया. उन्होंने कहा कि शिक्षिकाओं को मलबे से निकाला गया और फौरन अस्पताल ले जाया गया. मलिक ने यह भी कहा कि शिक्षिकाओं के इलाज पर आने वाला खर्च पंजाब सरकार उठाएगी.

Related Articles

Back to top button