बम विस्फोट में रूसी सैन्य ब्लॉगर की मौत, रूस ने हमले के लिए यूक्रेन को जिम्मेदार ठहराया

मॉस्को. रूस की शीर्ष आतंकवाद रोधी एजेंसी ने सोमवार को कहा कि जाने-माने रूसी सैन्य ब्लॉगर की मौत के लिए जिम्मेदार बम हमले की साजिश यूक्रेन की सुरक्षा एजेंसियों ने रची. ब्लॉगर ने यूक्रेन में रूसी हमले का पुरजोर समर्थन किया था. रूसी अधिकारियों ने बताया कि 40-वर्षीय व्लादलेन तातारस्की की रविवार को उस वक्त मौत हो गई, जब सेंट पीटर्सबर्ग में नेवा नदी के तट पर स्थित एक कैफे में उनके नेतृत्व में एक परिचर्चा हो रही थी. अधिकारियों के अनुसार, विस्फोट में 30 से अधिक लोग घायल हो गए और उनमें से 10 की हालत गंभीर बनी हुई है.

आतंकवाद रोधी अभियानों का समन्वय करने वाली नेशनल एंटी-टेररिस्ट कमेटी ने कहा कि तातारस्की के खिलाफ ‘‘आतंकवादी कृत्य’’ की साजिश यूक्रेन के ‘‘स्पेशल र्सिवसेज’’ द्वारा रची गई थी जिसमें उन लोगों की भागीदारी थी, जिन्होंने जेल में बंद एलेक्सी नवलनी द्वारा बनाए गए भ्रष्टाचार-रोधी फाउंडेशन के साथ सहयोग किया है. इसने कहा कि गिरफ्तार संदिग्ध नवलनी के समूह की “सक्रिय समर्थक” है.

रूस की जांच कमेटी के अनुसार हमले में शामिल होने के संदेह में सेंट पीटर्सबर्ग निवासी 26 वर्षीय दारया त्रियोपोवा को गिरफ्तार किया गया है. इससे पहले, त्रियोपोवा को युद्ध विरोधी रैलियों में भाग लेने के लिए हिरासत में लिया गया था. जांचकर्ताओं का मानना है कि बम ब्लॉगर की उस प्रतिमा में छिपा हुआ था जिसे संदिग्ध ने विस्फोट से ठीक पहले उसे उपहार के तौर पर दिया था.

रूसी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, त्रियोपोवा ने जांचकर्ताओं को बताया कि विस्फोटक उपकरण पहुंचाने के लिए उसे एक वाहक के रूप में इस्तेमाल किया गया, लेकिन उसे नहीं पता था कि यह मूर्ति में छिपा हुआ था. प्रत्यक्षर्दिशयों ने कहा कि चर्चा के दौरान संदिग्ध ने प्रश्न पूछे और तातारस्की के साथ चर्चा की. एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि महिला ने तातारस्की को बताया कि उसने ब्लॉगर की आवक्ष प्रतिमा बनाई थी, लेकिन गार्ड ने उसे इस संदेह में दरवाजे पर छोड़ने के लिए कहा कि उसमें बम हो सकता है.

उन्होंने आपस में मजÞाक किया और फिर वह आवक्ष प्रतिमा लेकर आई. एक वीडियो में तातारस्की को विस्फोट से ठीक पहले आवक्ष प्रतिमा के बारे में मजाक करते और उसे बगल में मेज पर रखते हुए दिखाया गया है. रूस की जांच कमेटी ने हत्या के आरोपों की जांच शुरू की. किसी ने भी सार्वजनिक रूप से जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन सैन्य ब्लॉगर और देशभक्त टिप्पणीकारों ने तुरंत हमले के लिए यूक्रेन को दोषी ठहराया और बम विस्फोट की तुलना पिछले वर्ष अगस्त में राष्ट्रवादी टीवी कमेंटेटर दरिया दुगिना की हत्या से की.

दुगिना के पिता, अलेक्जेंडर दुगिन ने तातारस्की को एक “अमर” नायक करार दिया जिन्होंने रूसी लोगों को बचाने के लिए जान दे दी.
तातारस्की की मौत पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जÞखारोवा ने रविवार देर रात कहा कि उनकी गतिविधियों के चलते ‘‘कीव शासन उनसे नफरत करता था.’’ उन्होंने कहा कि वह और अन्य रूसी सैन्य ब्लॉगर लंबे समय से यूक्रेन से खतरों का सामना कर रहे हैं.

Related Articles

Back to top button