सांसद के पुत्र के काफिले में शामिल वाहन की टक्कर लगने से दो युवकों की मौत, चालक गिरफ्तार

गोंडा. उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में बुधवार को कैसरगंज से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी करण भूषण सिंह के काफिले में शामिल एक वाहन से टक्कर लग जाने के कारण दो युवकों की मौके पर ही मौत हो गई तथा एक महिला गंभीर रूप से जख्मी हो गई. पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपी चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है. करण भूषण सिंह कैसरगंज के निवर्तमान सांसद एवं भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के पूर्व प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह के पुत्र हैं. मौके पर शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए चार थानों की पुलिस तैनात की गई है.

पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि करण भूषण सिंह अपने काफिले के साथ कर्नलगंज से बहराइच जिले के हुजूरपुर की तरफ जा रहे थे, तभी रास्ते में बैकुंठ डिग्री कॉलेज के पास काफिले में सबसे आगे चल रहे भाजपा प्रत्याशी के वाहन के निकल जाने के बाद सुरक्षार्किमयों को लेकर चल रही एक कार ने अनियंत्रित होकर एक मोटर साइकिल को टक्कर मार दी. उन्होंने बताया कि इस घटना में मोटरसाइकिल सवार दोनों युवकों- रेहान खान (17) और शहजाद खान (20) की मौके पर ही मौत हो गयी. पुलिस सत्रों के अनुसार, टक्कर के बाद अनियंत्रित वाहन की चपेट में आने से सड़क के किनारे चल रही 60-वर्षीया सीता देवी भी गम्भीर रूप से जख्मी हो गयीं, जिन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है.

सूत्रों ने बताया कि टक्कर के बाद वाहन पर सवार लोग काफिले के अन्य वाहनों में सवार होकर मौके से फरार हो गये. पुलिस के अनुसार, घटना के बाद मौके पर तनाव के हालात पैदा हो गये और स्थानीय लोगों ने घटनास्थल पर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कर्नलगंज-हुजूरपुर मार्ग पर रास्ता जाम कर दिया तथा दोषियों की गिरफ्तारी होने तक युवकों क शव पोस्टमार्टम के लिए न ले जाने की जिद पर अड़ गए.

घटना की सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और नाराज लोगों को दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया. उसके बाद जाम खुला और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि भीड़ ने टक्कर मारने वाले क्षतिग्रस्त वाहन को आग लगाने का भी प्रयास किया, मगर मौके पर मौजूद पुलिस बल ने इसे विफल कर दिया. अपर पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) राधेश्याम राय ने बताया कि आरोपी वाहन चालक लवकुश श्रीवास्तव (30) को गिरफ्तार कर लिया गया है.

मृत दोनों युवकों के शव का पंचनामा करके देर शाम परिजनों को सौंप दिया गया. पुलिस ने इस प्रकरण में स्थानीय थाने पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं तथा मोटर वाहन अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज करके चालक को गिरफ्तार कर लिया है और वाहन को कब्जे में ले लिया है. एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस काफिले में कुल चार वाहन थे, जिसमें सबसे आगे चल रही गाड़ी में भाजपा प्रत्याशी करण भूषण सिंह बैठे हुए थे, जबकि जिस वाहन से हादसा हुआ, वह काफिले में सबसे पीछे था.

घटनास्थल का निरीक्षण करके लौटे इस अधिकारी का कहना था कि मोटर साइकिल को ठोकर मारने के बाद अनियंत्रित हुए वाहन के रफ्तार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आवारा पशुओं से रखवाली के लिए सड़क किनारे खेतों में लगाए गए सीमेंट के एक दर्जन से अधिक पोल बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए. उन्होंने बताया कि जिस वाहन से दुर्घटना हुई है, वह परिवहन विभाग में नंदिनी एजुकेशनल इंस्टीट्यूट के नाम से पंजीकृत है. अधिकारी के अनुसार, इस वाहन का 21 दिसंबर 2023 को यातायात के नियमों का उल्लंघन करने पर दो हजार रुपये का चालान भी हुआ था, जिसका अभी भुगतान नहीं हुआ है. वाहन के पीछे शीशे पर ‘पुलिस स्कॉर्ट’ लिखा हुआ है.

उन्होंने कहा कि मंहगी गाड़ी होने के कारण इसमें सुरक्षा फीचर्स इतने अच्छे होते हैं कि अंदर लगे एअर बैग खुल जाने से इसमें सवार लोग पूरी तरह से सुरक्षित बच गए, जबकि गाड़ी का अगला हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया और सड़क किनारे लगे कटीले तारों में फंसकर उसका टायर भी पंचर हो गया है. परिजन नौशाद ने बताया कि एक बच्चे रेहान की तबीयत खराब थी, जिसकी दवा कराने के लिए शहजाद मोटर साइकिल से कर्नलगंज आ रहा था. उन्होंने बताया कि शहजाद हाल ही में दुबई से आया था और छतई पुरवा के पास काफिले के एक वाहन से उसका एक्सीडेंट हो गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button