चुनाव में हिस्सा लें युवा, भाजपा के लिए जगह नहीं छोड़े: महबूबा

श्रीनगर. पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने रविवार को युवाओं से जम्मू कश्मीर में आगामी निकाय एवं विधानसभा चुनावों में हिस्सा लेने की अपील करते हुए कहा कि यह अपने अधिकारों के वास्ते संघर्ष करने का उनका हथियार है और उन्हें भाजपा के लिए कोई जगह नहीं छोड़नी चाहिए.

मुफ्ती ने यहां पार्टी के एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘यह भाजपा का भारत नहीं है, लिख लीजिए, हम इसे भाजपा का भारत नहीं बनने देंगे.’’ जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्र को ‘‘पाकिस्तान के छापामारों की भांति बर्ताव नहीं करने की चेतावनी दी, जो 1947 में घाटी में आये थे’’ लेकिन कश्मीरियों ने उन्हें भागने के लिए मजबूर कर दिया था.

मुफ्ती ने कहा, ‘‘ भारत भाजपा नहीं है. जिस भारत में हम शामिल हुए थे, वह जवाहरलाल नेहरू का भारत, (एम के) गांधी जी का भारत, मौलाना अबुल कलाम आजाद का भारत है, यह राहुल गांधी का भारत है जो हिंदू-मुस्लिम एकता के लिए देश का दौरा कर रहे हैं, यह तुषार गांधी का भारत है.’’ उन्होंने 2019 में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाने को लेकर एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘‘ हमने इस देश के साथ दिल का संबंध जोड़ा, संविधान का संबंध जोड़ा, प्रेम का संबंध जोड़ा लेकिन आपने क्या किया? आपने हमारी गरिमा, हमारी पहचान के साथ खिलवाड़ किया. आपने पूरे राज्य को बर्बाद कर दिया. यह नहीं चलेगा.’’ मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर के लोग देश की वर्तमान स्थिति के चलते भारत में (जम्मू कश्मीर के) विलय पर प्रश्न उठा रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘ कश्मीरी हमसे सवाल पूछते हैं कि किस देश में वह शामिल हुए थे?… लेकिन मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि कश्मीरी उस भारत में शामिल हुए थे जिसे गांधी के पोते तुषार एवं नेहरू के प्रपौत्र राहुल देश के विभिन्न हिस्सों में तलाश रहे हैं.’’ उन्होंने, ‘‘मैं उस भारत की बात कर रही हूं जिसे (जवाहरलाल) नेहरू और (महात्मा) गांधी ने मिलकर बनाया, वह भारत जहां हिंदू-मुस्लिम एकता है, धर्मनिरपेक्षता एवं लोगों के अधिकार हैं.’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने युवाओं से भाजपा के लिए जगह नहीं छोड़ने का आह्वान किया.

उन्होंने कहा, ‘‘ यदि पंचायत या निगम चुनाव होते हैं तो मैं खासकर युवाओं से कहना चाहती हूं कि वे उसके (भाजपा के) लिए जगह नहीं छोड़ें.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ यदि आप संघर्ष करना चाहते हैं तो यह छोटा एवं बड़ा दोनों तरह का हथियार है. पंचायत, स्थानीय निकाय या विधानसभा आपके हाथों में हथियार हैं, आपके हाथों में शक्ति हैं और आपको इसे किसी और के लिए नहीं छोड़ना चाहिए.’’ पीडीपी प्रमुख ने यह कहते हुए जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे की बहाली के लिए संघर्ष जारी रहने का निश्चय प्रकट किया कि जम्मू कश्मीर के लोगों से छीन ली गयी हर चीज सूद सहित वापस ली जाएगी . उन्होंने लोगों से उम्मीद नहीं छोड़ने की अपील की.

Related Articles

Back to top button