बंगाल: भाजपा महिला कार्यकर्ता की हत्या, पार्टी ने नंदीग्राम में किया प्रदर्शन

कोलकाता. लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान से ठीक दो दिन पहले पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले के नंदीग्राम में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक महिला कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. इस घटना के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किया. पुलिस ने यह जानकारी दी. तमलुक लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली नंदीग्राम सीट पर 25 मई, शनिवार को मतदान होगा. राज्य में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी इस सीट से सांसद रह चुके हैं. उनका यहां खासा प्रभाव माना जाता है.

नंदीग्राम में भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान वाहनों के टायर जलाए, सड़कें अवरुद्ध कीं और दुकानें बंद कराई. उन्होंने आरोप लगाया कि सोनाचूरा गांव में भाजपा कार्यकर्ता रथिबाला अरहि (38) की तृणमूल कांग्रेस (तृणमूल) सर्मिथत अपराधियों ने हत्या की है.
पुलिस ने बताया कि दंगाई भीड़ को नियंत्रित करने के लिए इलाके में पुलिस और द्रुत कार्य बल (आरएएफ) की एक वृहद टुकड़ी तैनात की गई है. कथित हत्या के संबंध में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

भाजपा के एक स्थानीय नेता ने बताया कि प्रदर्शन के तहत पार्टी ने पहले नंदीग्राम में बंद का आह्वान किया था, लेकिन बाद में इस फैसले को वापस ले लिया. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि बुधवार देर रात मोटरसाइकिल पर आए अज्ञात हथियारबंद हमलावरों ने अरहि की हत्या कर दी थी और अनेक अन्य लोगों को घायल कर दिया था.

भाजपा के जिला महासचिव मेघनाद पॉल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ”क्षेत्र में दिन में चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद अरहि और कई अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं को कल रात एक स्थानीय मतदान केंद्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई थी, लेकिन टीएमसी सर्मिथत अपराधियों ने उन पर हमला कर दिया. अरहि की हत्या कर दी गई और अन्य लोगों को घायल कर दिया गया.” उन्होंने बताया कि कथित तौर पर घायल सात लोगों में से एक की हालत गंभीर है और उसे कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

नंदीग्राम के तृणमूल कांग्रेस नेता स्वदेश दास ने इन आरोपों को खारिज कर दिया और दावा किया, ”मृतक महिला का कुछ पारिवारिक विवाद था और हत्या इसका दुष्परिणाम हो सकती है.” जिला पुलिस के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि महिला की हत्या के मामले में जांच चल रही है.

भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने बुधवार को सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी द्वारा इलाके में दिए गए भाषण का संदर्भ देते हुए आरोप लगाया, ”कल नंदीग्राम में हुआ हत्याकांड भाइपो (भतीजे) के भड़काने का सीधा नतीजा था. अपनी निश्चित हार का अहसास होने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने इस बर्बर हत्या की साजिश रची थी. किसी महिला को मौत के घाट उतारने से पहले जिहादियों के हाथ नहीं कांपते.” उन्होंने कहा, ”भाजपा इसे अंजाम तक पहुंचाएगी, कानूनी तरीके से बदला लेगी और लोकतांत्रिक तरीकों से जवाब देगी.

भाजपा की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ‘एक्स’ पर कहा, ”लोकतंत्र में ऐसी हिंसा अस्वीकार्य है. ममता बनर्जी को उनकी पार्टी के आपराधिक सदस्यों के भड़काऊ बयानों और उसके बाद की कार्रवाई के लिए जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए. हम लड़ेंगे और रथिबाला अरहि और सभी पीड़ितों को न्याय दिलवाएंगे.” निर्वाचन आयोग पर कटाक्ष करते हुए मालवीय ने कहा, ”लेकिन आयोग ममता बनर्जी के बार-बार दिए जाने वाले सांप्रदायिक और जानलेवा बयानों पर कब संज्ञान लेगा? क्या जब चुनाव संपन्न हो जाएंगे तब?”

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता शांतनु सेन ने इस घटना को नंदीग्राम में पार्टी के पुराने नेताओं और नए लोगों के बीच भाजपा के आंतरिक झगड़े का प्रतिफल करार दिया. सेन ने भाजपा पर आरोप लगाया, ”भाजपा को यह पहले ही पता चल गया कि शनिवार को इस सीट पर होने वाले चुनाव में उसका प्रदर्शन खराब रहेगा. अपनी इसी हताशा में भाजपा अपने गुटीय झगड़े के परिणाम को तृणमूल पर थोपने की कोशिश कर रही है.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button