यूक्रेन युद्ध को समाप्त करने की हमारी शांति योजना सबकी चिंताओं का ध्यान रखती है : शी

पुतिन के साथ बैठक के लिए रूस पहुंचे चीनी राष्ट्रपति चिनफिंग

बीजिंग/मॉस्को. मॉस्को में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपनी वार्ता से पहले चीनी राष्ट्रपति शी चिनंिपग ने यूक्रेन युद्ध को समाप्त करने के लिए अपनी शांति योजना पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह सभी पक्षों की ‘वैध’ चिंताओं को ध्यान में रखती है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय की व्यापक समझ को दर्शाती है. इस महीने चीन की संसद द्वारा राष्ट्रपति और सेना के प्रमुख के रूप में अभूतपूर्व रूप से पांच साल के तीसरे कार्यकाल के लिये अनुमोदन किये जाने के बाद शी की पहली विदेश यात्रा है.

सोमवार से शुरू होने वाली तीन दिवसीय मॉस्को यात्रा पर मंगलवार को शी पुतिन के साथ वार्ता करने वाले हैं. वार्ता के दौरान शी के यूक्रेन संघर्ष को समाप्त करने के लिए शांति वार्ता की वकालत करने की उम्मीद जताई जा रही है. शी ने रूस के अखबार ‘रसियन गजट’ में सोमवार को प्रकाशित एक लेख ‘फोर्जिंग अहेड टू ओपन ए न्यू चैप्टर ऑफ चाइना-रसिया फ्रेंडशिप, कोऑपरेशन एंड कॉमन डेवलपमेंट’ में कहा, ‘‘10 साल पहले राष्ट्रपति चुने जाने के बाद मैंने सबसे पहले रूस का दौरा किया था.’’ शी (69) ने कहा कि उन्होंने पिछले 10 वर्षों में आठ बार मॉस्को का दौरा किया और द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठक के दौरान रूसी नेता से 40 से अधिक बार मुलाकात की.

हाल ही में ईरान और सऊदी अरब के बीच एक शांति समझौता कराने में चीन की सफल मध्यस्थ की भूमिका से उत्साहित, शी अब वैश्विक कूटनीति में चीन की भूमिका को बढ़ाने के लिए रूस-यूक्रेन युद्ध को समाप्त करने के लिए एक समझौते पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. शी ने अपने लेख में कहा, ‘‘पिछले साल से, यूक्रेन संकट चौतरफा बढ़ा है.’’ गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय (आईसीसी) द्वारा यूक्रेन में युद्ध अपराध करने का आरोप लगाते हुए रूसी नेता के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने के बाद शी, पुतिन से मिलने वाले पहले विश्व नेता होंगे.

पुतिन के साथ बैठक के लिए रूस पहुंचे चीनी राष्ट्रपति चिनफिंग

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग सोमवार को तीन-दिवसीय दौरे पर रूस पहुंचे. चिनफिंग रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक करेंगे. रूस-यूक्रेन में जारी युद्ध के बीच चिनफिंग-पुतिन के बीच होने वाली बैठक को अहम माना जा रहा है. चीन और रूस ने चिनफिंग की यात्रा को दोनों देशों की मित्रता को और प्रगाढ़ करने के प्रयासों के हिस्से के रूप में र्विणत किया है.

क्रेमलिन ने यूक्रेन के लिए चीन की शांति योजना का स्वागत किया है और कहा है कि इसमें पुतिन और चिनफिंग के बीच वार्ता के दौरान चर्चा की जाएगी. दोनों राष्ट्रपतियों के बीच सोमवार को रात्रिभोज के बाद बैठक शुरू होगी. गौरतलब है कि चिनफिंग की रूस यात्रा ऐसे समय में हो रही है, जब अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय द्वारा शुक्रवार को युद्ध अपराध के आरोपों में पुतिन की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया गया था. रूस ने इस वारंट को ‘‘निष्प्रभावी’’ करार दिया है. चीन अपनी ऊर्जा आधारित अर्थव्यवस्था के लिए रूस को तेल और गैस के स्रोत के रूप में देखता है.

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने कहा कि सोमवार की बैठक के दौरान चिनफिंग और पुतिन यूक्रेन से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करेंगे. उन्होंने कहा कि रूसी राष्ट्रपति मौजूदा हालात पर मॉस्को के दृष्टिकोण को लेकर भी ‘‘विस्तृत विवरण’’ दे सकते हैं. पेस्कोव ने कहा कि मंगलवार को दोनों देशों के अधिकारियों के बीच विभिन्न विषयों पर व्यापक बातचीत होगी.

वहीं, बींिजग में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रपति चिनफिंग का रूस दौरा ‘‘मित्रता, सहयोग एवं शांति की यात्रा’’ है. उन्होंने कहा, ‘‘चीन यूक्रेन संकट पर अपनी निष्पक्ष स्थिति को बनाए रखेगा और शांति वार्ता को बढ़ावा देने में रचनात्मक भूमिका निभाएगा.’’ एपी शफीक शफीक

Related Articles

Back to top button