कांग्रेस नेतृत्व की महाराष्ट्र के नेताओं के साथ बैठक, एकजुट रहने और पार्टी को मजबूत बनाने की अपील

नयी दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की, जिसमें उनसे एकजुट रहने की अपील करने के साथ ही पार्टी को उसके इस पुराने गढ़ में फिर से मजबूत बनाने पर जोर दिया गया.

महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में विभाजन की पृष्ठभूमि में पार्टी मुख्यालय में हुई इस बैठक में कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले, पार्टी के राज्य प्रभारी एचके पाटिल, पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण एवं अशोक चव्हाण, वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक और कई अन्य नेता मौजूद थे.

पिछले दिनों राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने आठ अन्य विधायकों के साथ एकनाथ शिंदे सरकार में मंत्री पद की शपथ ले ली और पार्टी के नाम एवं इसके चुनाव निशान घड़ी पर अपना दावा पेश कर दिया. अजित पवार महाराष्ट्र सरकार में उप मुख्यमंत्री बने हैं. कांग्रेस ने यह फैसला भी किया है कि महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का फैसला आगामी सत्र से पहले पहले किया जाएगा. राकांपा में विभाजन के बाद अब कांग्रेस राज्य विधानसभा में सबसे बड़ा विपक्षी दल हो गई है. कांग्रेस के 44 विधायक हैं.

बैठक की तस्वीर साझा करते हुए खरगे ने ट्वीट किया, ”भाजपा ने अपनी ‘वॉशिंग मशीन’ का इस्तेमाल कर, महाराष्ट्र के स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने का काम किया है. कांग्रेस पार्टी इस राजनीतिक जालसाज.ी का बराबर जवाब देगी. महाराष्ट्र की जनता जनादेश पर भाजपा द्वारा किए गए लगातार हमलों का कड़ा राजनीतिक उत्तर देगी.”

उन्होंने कहा, ”हमारे नेता और कार्यकर्ता, महाराष्ट्र की जनता को उसकी अपनी सरकार वापस दिलाएंगे. हम महाराष्ट्र की जनता के मन में अपनी जगह हमेशा से बनाए हुए हैं. महाराष्ट्र और कांग्रेस के गौरवशाली रिश्ते को हम और मज.बूत करेंगे.” कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि महाराष्ट्र कांग्रेस पार्टी का गढ़ है और वहां पार्टी को मजबूत करना है.

उन्होंने फेसबुक पोस्ट में कहा, ” आज कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे जी के नेतृत्व में महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं के साथ बैठक हुई. महाराष्ट्र कांग्रेस पार्टी का गढ़ है और हमारा ध्यान वहां कांग्रेस पार्टी को मज.बूत करने और लोगों की आवाज उठाने पर केंद्रित है. हम मिलकर यह सुनिश्चित करेंगे कि वहां की सत्ता पर बैठी जनविरोधी सरकार की हार हो.” बैठक के बाद वेणुगोपाल ने संवाददाताओं से कहा, ”लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई है. खरगे जी ने सभी लोगों से अपील की है कि उन्हें एकजुट रहना चाहिए और कांग्रेस को मजबूत बनाना चाहिए.”

उन्होंने बताया, ”राहुल गांधी जी ने भारत जोड़ो यात्रा को महाराष्ट्र में मिले समर्थन का उल्लेख किया. राहुल जी ने नेताओं से इस बारे में बात की कि कांग्रेस की जड़ों को कैसे मजबूत किया जाए.” कांग्रेस महासचिव ने कहा, ”तीन प्रमुख फैसले हुए हैं. वरिष्ठ नेताओं को हर लोकसभा क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी. सितंबर महीने में हर जिले में एक बड़े नेता की अगुवाई में बड़ी पदयात्रा निकाली जाएगी. नवंबर एवं दिसंबर में एक बस यात्रा भी होगी.” प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पटोले ने कहा, ”महाराष्ट्र कांग्रेस एकजुट है, कोई भी पार्टी छोड़कर नहीं जाएगा. जब भी महाराष्ट्र में चुनाव होगा तो सबसे बड़ी पार्टी बनकर कांग्रेस सामने आएगी.” उन्होंने कहा कि विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का फैसला विधानसभा के आगामी सत्र से ठीक पहले किया जाएगा.

Related Articles

Back to top button