राहुल अपने राजनीतिक विचार कांग्रेस नेताओं का समझा नहीं पा रहे, इसलिए हो रहा है मोहभंग: भाजपा

नयी दिल्ली. कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ के पार्टी छोड़ने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बृहस्पतिवार को राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस नेताओं का पार्टी से ‘मोहभंग’ इसलिए हो रहा है क्योंकि वह अपने राजनीतिक विचारों से उन नेताओं को समझाने में विफल साबित हो रहे हैं. वल्लभ ने यह कहते हुए कांग्रेस से इस्तीफा दिया कि वह सनातन विरोधी नारे नहीं लगा सकते तथा ‘वेल्थ क्रिएटर्स’ (पूंजी का सृजन करने वालों) को गाली नहीं दे सकते.

वल्लभ ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को लिखा त्यागपत्र सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर साझा किया और कहा कि पार्टी जिस तरह से दिशाहीन होकर आगे बढ. रही है, उसे देखते हुए वह खुद को सहज महसूस नहीं कर पा रहे थे. भाजपा मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि वल्लभ की चिंताएं मूल रूप से कांग्रेस नेता ए के एंटनी द्वारा कही गई बातों की प्रतिध्वनि हैं, जो 2014 में पार्टी की हार के बाद गठित समिति के प्रमुख थे और जिन्होंने अपनी रिपोर्ट में कांग्रेस की हार का प्रमुख कारण एक धर्म के प्रति उसका बहुत अधिक झुकाव बताया था.

उन्होंने कहा, ”समिति के अध्यक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठतम नेता ए के एंटनी ने निष्कर्ष दिया था कि कांग्रेस की करारी हार की सबसे बड़ी वजह यह है कि पार्टी का एक धर्म की ओर झुकाव होता दिख रहा है.” त्रिवेदी ने कहा, ”एक तरह से वह यह कहने की कोशिश कर रहे थे कि कांग्रेस को मुसलमानों की ओर झुकाव रखने वाली पार्टी के रूप में देखा जाता है.” उन्होंने कहा कि ए के एंटनी खुद अल्पसंख्यक समुदाय से थे.

भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि यह ‘बहुत स्पष्ट है’ कि एक के बाद एक कांग्रेस नेताओं का पार्टी से मोहभंग हो रहा है, क्योंकि राहुल गांधी खुद अपने नेताओं को नहीं समझा पा रहे हैं तो वह देश को क्या समझाएंगे. त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस छोड़ते समय वल्लभ ने जिन कारणों का जिक्र किया, वह यह भी दर्शाता है कि राहुल गांधी के राजनीतिक और आर्थिक विचार पंक्चर हो रहे हैं.

Related Articles

Back to top button