केरल के कन्वेंशन सेंटर में धमाके के बाद दिल्ली में गिरजाघरों, मेट्रो स्टेशनों की बढ़ाई गई सुरक्षा

नयी दिल्ली. केरल के एक कन्वेंशन सेंटर में रविवार को हुए धमाके के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में गिरजाघरों के आसपास और मेट्रो स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्य बाजारों, गिरजाघरों, मेट्रो स्टेशनों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशनों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

अधिकारी ने बताया, ”उत्तर प्रदेश और हरियाणा की सीमा से लगे सीमावर्ती इलाकों में पुलिस दलों को नाकाबंदी करने के लिए कहा गया है. सादे कपड़ों में पुलिसर्किमयों, मोटरसाइकिल चालकों और पीसीआर वाहन को सतर्क रहने के साथ-साथ किसी भी सूचना को नजरअंदाज नहीं करने के लिए कहा गया है.” अधिकारी ने बताया, ”हम भीड़भाड़ वाले बाजारों में पहले से ही पैनी नजर रखे हुए हैं. त्योहारों के मद्देनजर पहले से ही अतिरिक्त पुलिसर्किमयों को तैनात किया गया है.” केरल के कलामासेरी में एक कन्वेंशन सेंटर में रविवार सुबह हुए धमाके में एक महिला की मौत हो गई और 45 अन्य घायल हो गए.

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस का विशेष प्रकोष्ठ केंद्रीय एजेंसियों से लगातार संपर्क में है. प्रकोष्ठ ने दो अक्टूबर को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के सर्वाधिक वांछित आतंकवादियों में शामिल मोहम्मज शाहनवाज आलम और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया था.

पुलिस के मुताबिक, ये तीनों व्यक्ति आईएसआईएस मॉड्यूल का हिस्सा थे और इनके पास से संदिग्ध सामग्री बरामद की गई थी, जिसमें आईईडी (विस्फोटक) बनाने में इस्तेमाल की जाने वाली चीजें भी शामिल हैं. आतंक रोधी एजेंसी ने शाहनवाज के बारे में कोई भी जानकारी देने पर तीन लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी.

पेशे से इंजीनियर शाहनवाज, पुणे पुलिस की हिरासत से भाग निकला था और गिरफ्तारी के वक्त वह दिल्ली में रह रहा था. उसके दो सहयोगियों की पहचान इमरान और युनूस के रूप में हुई है. छानबीन के दौरान यह सामने आया कि शाहनवाज और उसके सहयोगी आतंकी हमले की साजिश रच रहे थे. अधिकारी ने बताया, ”शाहनवाज, इमरान और युनूस की गिरफ्तारी के बाद से ही हम सतर्क हैं. प्रतिदिन सख्त निगरानी और चौबीसों घंटे गश्त की जा रही है.”

Related Articles

Back to top button