सुरेश गोपी ने इस्तीफे की अफवाहों का किया खंडन

नयी दिल्ली/तिरुवनंतपुरम. केंद्रीय मंत्री और अभिनेता से नेता बने सुरेश गोपी ने सोमवार को मीडिया में आई उन खबरों को ‘पूरी तरह से गलत’ बताते हुए खारिज कर दिया, जिनमें कहा गया था कि वह नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार से ‘हटने’ की कोशिश कर रहे हैं. फेसबुक पर एक पोस्ट में गोपी ने कहा कि मोदी सरकार की मंत्रिपरिषद में शामिल होना और केरल के लोगों का प्रतिनिधित्व करना उनके लिए गर्व की बात है.

उनका यह बयान रविवार रात मीडिया से बातचीत के बाद आया है, जिसमें उन्होंने उम्मीद जताई थी कि उन्हें जल्द ही पद से मुक्त कर दिया जाएगा, क्योंकि वह और फिल्में करना चाहते हैं. इससे मोदी सरकार में उनकी भूमिका जारी रहने की अटकलें लगाई जा रही हैं.
गोपी ने पोस्ट में कहा, “कुछ मीडिया मंच गलत खबर फैला रहे हैं कि मैं मोदी सरकार की मंत्रिपरिषद से इस्तीफा देने जा रहा हूं. यह पूरी तरह से गलत है. मोदी सरकार की मंत्रिपरिषद में होना और केरल के लोगों का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए गर्व की बात है.”

अपने फेसबुक पेज पर मोदी के साथ अपनी तस्वीर संलग्न करते हुए गोपी ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में हम केरल के विकास और समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध हैं.” इससे पहले, कांग्रेस की केरल इकाई ने ‘एक्स’ पर एक समाचार चैनल का वीडियो पोस्ट किया था जिसमें गोपी की टिप्पणी थी.

जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या उन्होंने अपनी फिल्म प्रतिबद्धताओं को देखते हुए राज्य मंत्री का पद चुना, तो मुस्कुराते हुए गोपी ने कहा था, “कुछ भी नहीं मांगा गया था. मैंने उनसे कहा था कि मुझे यह नहीं चाहिए. मुझे लगता है कि मुझे बिना देरी के राहत मिल जाएगी.” यह पूछे जाने पर कि क्या इससे त्रिशूर के लोगों को कोई समस्या होगी, जिन्होंने उन्हें चुना, गोपी ने जवाब दिया, “उनके लिए कोई समस्या नहीं है. वे बहुत अच्छी तरह जानते हैं. त्रिशूर के लोगों के लिए एक सांसद के रूप में, मैं बहुत अच्छा प्रदर्शन करूंगा. मैं फिल्मों में काम करना चाहता हूं.”

रविवार रात दो मलयालम समाचार चैनलों के साथ बातचीत के दौरान उन्होंने केरल में एक एम्स स्थापित करने और सांसद के रूप में अपने कर्तव्यों को पूरा करने में अन्य मंत्रियों के साथ सहयोग करने की इच्छा भी व्यक्त की थी. केरल से एकमात्र भाजपा सांसद गोपी द्वारा कैबिनेट या राज्य मंत्री (स्वतंत्र) प्रभार नहीं दिए जाने पर नाराजगी व्यक्त करने की खबरों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा के राज्य प्रमुख सुरेंद्रन ने कहा कि यह फर्जी खबर है. कांग्रेस की राज्य इकाई ने इस घटनाक्रम को लेकर गोपी और भाजपा की आलोचना की है.

केरल में कांग्रेस ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, “भाजपा, नरेन्द्र मोदी- मतदाताओं का यह मजाक क्यों? आप अपने सांसद से क्यों नहीं कहते कि पहले तय करें कि उन्हें जीवन में क्या करना है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि भगवान और संविधान के नाम पर शपथ लेने के बाद मीडिया के सामने यह तमाशा बंद करें.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button