कांग्रेस की नई कार्य समिति की पहली बैठक 16 सितंबर को हैदराबाद में

कांग्रेस की सीईसी का पुनर्गठन, खरगे, सोनिया और राहुल समेत 16 नेताओं को जगह

नयी दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने आगामी 16 सितंबर को हैदराबाद में नवगठित कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक बुलाई है और इसके अगले दिन तेलंगाना में ही पार्टी की एक विशाल जनसभा आयोजित होगी. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने सोमवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष ने नई कार्य समिति की पहली बैठक 16 सितंबर को हैदराबाद में बुलाई है. इसके अगले दिन 17 सितंबर को विस्तारित कार्य समिति की बैठक होगी.” वेणुगोपाल ने बताया कि 17 सितंबर की शाम हैदराबाद के निकट एक विशाल जनसभा होगी.

उन्होंने कहा, ”तेलंगाना राष्ट्रीय एकता दिवस के ऐतिहासिक अवसर पर हम हैदराबाद के पास एक विशाल रैली आयोजित करेंगे, जहां हम तेलंगाना के लिए 5 गारंटी की घोषणा करेंगे. इस विशाल रैली के बाद कांग्रेस अध्यक्ष कार्य समिति के सभी सदस्यों, आमंत्रित नेताओं, प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के प्रमुखों और विधायक दल नेताओं के काफिले को तेलंगाना के 119 विधानसभा क्षेत्रों में से प्रत्येक का दौरा करने के लिए हरी झंडी दिखाएंगे.”

उन्होंने कहा, ”18 सितंबर को मौजूदा सांसदों के अलावा सभी नेता कार्यकर्ता बैठक करेंगे और सुबह घर-घर जाकर बीआरएस सरकार के खिलाफ आरोपपत्र बांटेंगे. उस दिन दोपहर के भोजन के बाद वे स्थानीय प्रभावशाली लोगों से बातचीत करेंगे. हर निर्वाचन क्षेत्र में महात्मा गांधी, बीआर अंबेडकर की प्रतिमा के निकट मार्च का समापन होगा.” माना जा रहा है कि कार्य समिति की बैठक, जनसभा और मार्च के जरिये कांग्रेस तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए अपने प्रचार अभियान का विधिवत आगाज करेगी. राज्य में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है.

कांग्रेस ने गत 20 अगस्त को अपनी नयी कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) का गठन किया था जिसमें पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के साथ पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं. कार्य समिति में 39 सदस्य, 32 स्थायी आमंत्रित सदस्य और 13 विशेष आमंत्रित सदस्य शामिल किए गए हैं.

कांग्रेस की सीईसी का पुनर्गठन, खरगे, सोनिया और राहुल समेत 16 नेताओं को जगह

कांग्रेस ने सोमवार को अपनी केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) का पुनर्गठन किया, जिसमें पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी समेत कुल 16 नेताओं को शामिल किया गया. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष ने सीईसी का गठन किया.

नई सीईसी में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता ए के एंटनी, गिरिजा व्यास, मुकुल वासनिक, वीरप्पा मोइली, मोहसिना किदवई और जनार्दन द्विवेदी शामिल नहीं हैं, जो पिछली सीईसी में शामिल थे. मनमोहन सिंह, एंटनी, वासनिक और मोइली को हाल ही में कार्य समिति में जगह दी गई थी.

कांग्रेस की नई सीईसी में खरगे, सोनिया और राहुल के अलावा वेणुगोपाल, अंबिका सोनी, अधीर रंजन चौधरी, मधुसूदन मिस्त्री, उत्तम कुमार रेड्डी, टी एस सिंह देव, सलमान खुर्शीद, केजे जॉर्ज, प्रीतम सिंह, मोहम्मद जावेद, अमी याजनिक, पीएल पूनिया और ओमकार मरकाम को शामिल किया गया है. कांग्रेस की सीईसी चुनावों में उम्मीदवारों के नाम अंतिम मुहर लगाती है.

Related Articles

Back to top button