कंबोडिया के होटल में लगी भीषण आग, कम से कम 19 लोगों की मौत

नोम पेन्ह. कंबोडिया के एक कसीनो होटल में 12 घंटे से अधिक समय से लगी भीषण आग में कम से कम 19 लोगों की मौत हो गयी है और 60 से अधिक लोग घायल हुए हैं. अभी कई पीड़ितों का पता नहीं चल पाया है. पड़ोसी देश थाईलैंड ने सीमावर्ती क्षेत्र में आग बुझाने के लिए कई दमकल वाहनों को भेजा है.

बंटये मीनचे प्रांत के सूचना विभाग के प्रमुख सेक सोकहोम ने बताया कि ऐसी आशंका है कि कई लोग मलबे के नीचे दबे हो सकते हैं या बंद कमरों में फंसे हो सकते हैं जहां तक बचाव दल अभी नहीं पहुंच पाए हैं. इसे देखते हुए मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है. उन्होंने बताया कि 60 से अधिक लोग घायल हुए हैं.

उन्होंने बताया कि मृतकों और घायलों में थाईलैंड, चीन, मलेशिया, वियतनाम और कंबोडिया समेत कई देशों के नागरिक शामिल हैं.
सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए वीडियो में सीमावर्ती शहर पोईपेट के ग्रैंड डायमंड सिटी कसीनो एंड होटल में आग में घिरे लोगों को छतों से कूदते देखा जा सकता है. होटल के अंदर कर्मचारी और ग्राहक दोनों फंसे हुए हैं जिनमें अधिकतर पड़ोसी देश थाईलैंड से हैं.

कंबोडिया की दमकल एजेंसी द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में राहगीरों को होटल परिसर की छत पर फंसे लोगों को बचाने की अपील करते देखा जा सकता है. वीडियो में एक व्यक्ति को छत को आग की लपटों से घिरते देख नीचे कूदते देखा जा सकता है. एक राहगीर चिल्लाया, ‘‘ओह, कृपया उसे बचाओ. पानी डालो… पानी डालो.’’ अग्निशमन, रोकथाम और बचाव विभाग ने पोस्ट किया कि तड़के चार बजे 13वीं, 14वीं और 15वीं मंजिल से मदद की पुकार सुनी गई, खिड़कियों से मदद की गुहार का संकेत करते हाथों को देखा गया और साथ ही परिसर के अंदर से एक मोबाइल फोन के टॉर्च से संकेत दिया गया.

सोकहोम ने बृहस्पतिवार को कहा कि आग बुधवार आधी रात के करीब शुरू हुई थी जिस पर बृहस्पतिवार को दिन में करीब दो बजे काबू पा लिया गया. उन्होंने कहा कि स्थानीय बौद्ध मंदिर में शवों को रखने की तैयारी की जा रही है. बचाव अभियान अभी चल रहा है.
उन्होंने यह भी बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला कि नववर्ष की सजावट के कारण बिजली का लोड बढ़ जाने के कारण आग लगी होगी. नववर्ष की सजावट के कारण बिजली का इस्तेमाल बढ़ गया जिससे तार अधिक गर्म होकर जल गए होंगे.

बंटेय मीनचे प्रांत के पुलिस प्रमुख मेजर जनरल सिथि लोह ने कहा कि दमकल के 11 वाहन और 360 आपातकर्मी मौके पर मौजूद हैं. कसीनो में करीब 400 कर्मी काम करते हैं. घटनास्थल पर अपने कार्यकर्ताओं को भेजने वाले समाज कल्याण संगठन थाईलैंड रुआमकतन्यु फाउंडेशन के सदस्य मोंत्री खाओसा-अर्द ने कहा, ‘‘अभी हम इमारत से शवों को निकालने की कोशिश कर रहे हैं. मुझे नहीं लगता कि कोई ंिजदा बचा है क्योंकि वहां धुंआ ही धुंआ है. यहां तक कि हम सभी (बचावर्किमयों) को भी आग से बचाव के लिए विशेष परिधान पहनना पड़ेगा, नहीं तो हम सांस तक नहीं ले पाएंगे.’’ थाईलैंड और कंबोडिया की बचाव टीम बृहस्पतिवार को बुरी तरह जलकर नष्ट हुए होटल में तलाश अभियान में जुटी हुई है.

थाईलैंड के सरकारी टेलीविजन नेटवर्क ‘थाई पीबीएस’ की खबर के मुताबिक, कर्मचारी और पर्यटकों समेत 50 थाई नागरिक कसीनो परिसर में फंसे हुए थे. ‘थाई पीबीएस’ ने बताया कि कंबोडिया के अधिकारियों ने स्थिति से निपटने के लिए थाईलैंड से मदद का अनुरोध किया, जिसने घटनास्थल पर दमकल की पांच गाड़ियां और 10 बचाव वाहन भेजे.

पश्चिमी कंबोडिया का पोईपेट शहर थाईलैंड के समृद्ध शहर अरण्यप्रथेट के पास है और यहां से व्यस्त सीमा पर बड़े पैमाने पर कारोबार और पर्यटन होता है. पीबीएस के अनुसार, अरण्यप्रथेट अस्पताल का आपातकालीन वार्ड मरीजों से भर गया है और कई पीड़ितों को दूसरे अस्पतालों में भेजा गया है.

थाईलैंड में कसीनो अवैध है लेकिन म्यांमा, कंबोडिया और लाओस जैसे पड़ोसी देशों में इस उद्योग का चलन है. कंबोडिया में कसीनो उद्योग का अत्यधिक चलन है और दक्षिण पूर्वी एशियाई देश एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है. ग्रेट डायमंड सिटी कसीनो थाईलैंड से लगती सीमा से महज कुछ ही मीटर की दूरी पर है और पर्यटकों में काफी लोकप्रिय है जो थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक से चार घंटे की यात्रा कर यहां पहुंच सकते हैं.

Related Articles

Back to top button