मुख्यमंत्री हिमंत शर्मा का दावा: राहुल गांधी और उनके समर्थकों का भविष्य अंधकार में…

तेजपुर (असम): असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनके समर्थकों का भविष्य अंधकार में है। उन्होंने यह भी दावा किया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेन कुमार बोरा अगले साल की शुरुआत तक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो जाएंगे।

बहरहाल, बोरा ने मुख्यमंत्री के दावे को मंगलवार को खारिज कर दिया और कहा कि शर्मा वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ‘माइंड गेम’ (दिमाग का खेल) खेल रहे हैं। शर्मा ने कांग्रेस को भाजपा का ‘सावधि जमा’ (फिक्स्ड डिपोजिट) बताया जहां से वह जरूरत पड़ने पर सदस्यों को ले लेती है।

शर्मा ने सोमवार शाम को सोनितपुर निर्वाचन क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार रंजीत दत्ता के आवास पर पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘मैं कह सकता हूं कि जनवरी-फरवरी 2025 तक भूपेन बोरा भाजपा में शामिल होंगे। मैंने उनके लिए दो निर्वाचन क्षेत्र तैयार रखे हैं, हालांकि अभी उनका नाम नहीं बताऊंगा।’’

विपक्षी दल कांग्रेस को भाजपा का ‘फिक्स्ड डिपोजिट’ बताते हुए शर्मा ने दावा, ‘‘जब भी जरूरत होती है, हम उन्हें ले आते हैं।’’ शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के लिए वोट करने का मतलब राहुल गांधी के लिए वोट करना है और भाजपा के लिए वोट करने का मतलब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए वोट करना है।

उन्होंने दावा किया, ‘‘जो लोग मोदी को प्यार करते हैं और भारत को ‘विश्व गुरु’ बनाना चाहते हैं, वे भाजपा के लिए वोट करेंगे। राहुल गांधी का भविष्य अंधकार में है, उनके समर्थकों का भविष्य भी अंधकार में है।’’ उन्होंने यह भी दावा किया कि अगर वह सोनितपुर में कांग्रेस उम्मीदवार को फोन करते हैं तो वह भी भाजपा में शामिल हो जाएंगे।

शर्मा ने कहा, ‘‘यहां से चुनाव लड़ रहे व्यक्ति को अगर मैं फोन करूं तो वह तुरंत हमारे खेमे में शामिल हो जाएंगे लेकिन मैं चुनाव के बाद फोन करूंगा। हम नहीं चाहते कि वह नामांकन वापस लें क्योंकि हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को लोगों का समर्थन दिखाना चाहते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हनुमान ने अपना सीना चीरकर प्यार दिखाया था। कलयुग में हमें वोटों के जरिए प्यार दिखाना होगा।’’ जोरहाट में मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में असम कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेन बोरा ने मुख्यमंत्री के दावे को खारिज कर दिया और कहा कि शर्मा असल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ‘दिमाग का खेल’ खेल रहे हैं।

बोरा ने पूछा, ‘‘मैं पूछना चाहता हूं कि मुझे भाजपा में शामिल क्यों होना चाहिए? अगर मैं शामिल हो जाता हूं तो क्या वर्षों से अनुसूचित जनजाति का दर्जा मांग रहे छह समुदायों को यह मिल जाएगा? क्या नयी नौकरियां सृजित होंगी? क्या भूमिहीन स्वदेशी परिवारों को भूमि अधिकार मिल जाएंगे?’’

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री ‘माइंड गेम’ खेल रहे हैं। जब भी हम ज्वलंत मुद्दों पर बात करते हैं तो वह ध्यान भटकाने की कोशिश करते हैं क्योंकि उनके पास कोई समाधान नहीं है। लेकिन कांग्रेस ऐसे ‘माइंड गेम्स’ के जाल में नहीं फंसेगी।’’

कांग्रेस ने मौजूदा विधायक रंजीत दत्ता के खिलाफ प्रदेश पार्टी महासचिव प्रेमलाल गंजू को उम्मीदवार बनाया है। दत्ता राज्य के पूर्व मंत्री और पूर्व भाजपा अध्यक्ष भी हैं। इस निर्वाचन क्षेत्र में 19 अप्रैल को पहले चरण में मतदान होगा।

भाजपा असम की कुल 14 में से 11 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। उसने दो सीटें असम गण परिषद (एजीपी) और एक सीट यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) के लिए छोड़ दी है। भाजपा के, निवर्तमान लोकसभा में असम से नौ सांसद हैं जबकि उसके गठबंधन के सहयोगी दलों का कोई प्रतिनिधित्व नहीं है।

Related Articles

Back to top button