चार सपा विधायकों को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली, रास चुनाव में भाजपा के पक्ष में की थी ‘क्रॉस-वोटिंग’

लखनऊ. केंद्र सरकार ने समाजवादी पार्टी (सपा) के चार विधायकों को वाई श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है. इन चारों ने गत 27 फरवरी को हुए राज्यसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक उम्मीदवार के पक्ष में ‘क्रॉस-वोटिंग’ की थी. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने रविवार को बताया कि सरकार ने सपा विधायक अभय सिंह (गोसाईगंज सीट, अयोध्या), मनोज कुमार पांडे (ऊंचाहार सीट, रायबरेली), राकेश प्रताप सिंह (गौरीगंज, अमेठी) और विनोद चतुर्वेदी (कालपी, जालौन) को वाई श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध कराई है.

इन चारों के साथ ही हाल ही में बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) से भाजपा में शामिल हुए अंबेडकर नगर के सांसद रितेश पांडे के पिता सपा विधायक राकेश पांडे, पूजा पाल और आशुतोष मौर्य ने भी 27 फरवरी को हुए राज्यसभा चुनाव में ‘क्रॉस-वोटिंग’ की थी. नतीजतन भाजपा अपने उम्मीदवार संजय सेठ को राज्यसभा भेजने में सफल रही थी जबकि सपा के आलोक रंजन हार गए थे.

वाई श्रेणी की सुरक्षा पाये चारों विधायकों को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के आठ र्किमयों का सुरक्षा घेरा मिलेगा. इनमें से पांच उनके आवास की निगरानी करेंगे और बाकी सुरक्षा कर्मी यात्रा के दौरान उनके साथ रहेंगे. अधिकारी ने बताया, “अभय सिंह को शुक्रवार को सुरक्षा मिली थी, जबकि बाकी को शनिवार को मिली.” गत 27 फरवरी को राज्यसभा चुनाव में अपने विधायकों द्वारा क्रॉस वोटिंग किए जाने के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा था, “वे (विधायक) उन्हें मिले ‘पैकेज’ और सुरक्षा के कारण (भाजपा में) गए हैं.”

Related Articles

Back to top button