गैंगस्टर प्रसाद पुजारी को चीन से वापस भारत लाया गया, मुंबई पुलिस ने किया गिरफ्तार

मुंबई/नयी दिल्ली. हत्या, जबरन वसूली और अपहरण सहित कई गंभीर मामलों में वांछित गैंगस्टर प्रसाद पुजारी को शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात चीन से निर्वासन के बाद भारत वापस लाया गया. भारत लाए जाने पर मुंबई पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

अधिकारी ने बताया कि गैंगस्टर पुजारी उर्फ सुभाष विट्ठल पुजारी उर्फ सिद्धार्थ शेट्टी उर्फ सिद्धू उर्फ सिद्ध उर्फ जॉनी गैंगस्टर कुमार पिल्लई और छोटा राजन के गिरोह का पूर्व सदस्य है. वह चीन में रह रहा था और पिछले साल उसे वहीं गिरफ्तार किया गया था. मुंबई पुलिस की अपराध शाखा लगातार उसे देश वापस लाने की कोशिश कर रही थी.

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई)के प्रवक्ता ने शनिवार को एक बयान में कहा कि एजेंसी ने 14 फरवरी 2012 को इंटरपोल से पुजारी के खिलाफ रेड नोटिस जारी कराया और चीन से उसे वापस भारत लाने के लिए मुंबई पुलिस और विदेश मंत्रालय के साथ समन्वय कर उनकी सहायता की. रेड कॉर्नर नोटिस सभी इंटरपोल सदस्य देशों को फरार आरोपी के बारे में सचेत करता है और ऐसे व्यक्ति को उनके अधिकार क्षेत्र में देखे जाने पर हिरासत में लिया जाना चाहिए.

अपराध शाखा के अधिकारी ने बताया कि पुजारी मुंबई में कथित तौर पर गोलीबारी, जबरन वसूली और हत्या सहित आठ गंभीर मामलों में वांछित है. वह विक्रोली के टैगोर नगर का निवासी है और सालों पहले विदेश भाग गया था. उन्होंने बताया कि वह कथित तौर पर पूर्वी मुंबई में बिल्डर और व्यापारियों को निशाना बनाता था. अधिकारी ने बताया कि पुजारी का नाम दिसंबर 2019 में विक्रोली इलाके में रहने वाले शिवसेना कार्यकर्ता चंद्रकांत जाधव पर गोलीबारी के मामले में भी आया था. उसे फरवरी 2023 में हांगकांग में अधिकारियों ने पकड़ा था.

अधिकारी ने बताया, ‘ इंटरपोल की गुप्त सूचना के आधार पर पुजारी को फर्जी पासपोर्ट के आरोप में पिछले साल मार्च में हांगकांग में गिरफ्तार किया गया था. उसे तब पकड़ा गया जब वह हांगकांग से शेनझेन (चीन का शहर) के विमान में सवार होने की तैयारी कर रहा था. पुजारी ने एक चीनी नागरिक से शादी की है, गिरफ्तारी के समय अपनी पत्नी और बच्चे के साथ शेनझेन में रह रहा था.”

अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने 2020 में पुजारी की मां इंदिरा विट्ठल पुजारी को विक्रोली के एक बिल्डर से जबरन वसूली के मामले में गिरफ्तार किया था. एक डेवलपर से कथित तौर पर 10 लाख रुपये की उगाही करने के आरोप में इंदिरा के खिलाफ महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण अधिनियम (मकोका) के तहत यह कार्रवाई की गई थी.

उन्होंने बताया कि पुजारी अंतरराष्ट्रीय फोन नंबर से व्यवसायियों और जाने-माने लोगों को वसूली के लिए कॉल करता था और कुछ प्रमुख फिल्म निर्देशकों, निर्माताओं और बॉलीवुड अभिनेताओं को जान से मारने की दी थी. उसका गिरोह मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई इलाकों में बहुत सक्रिय है.

अधिकारी ने बताया कि चीन से निर्वासित कराने के बाद शुक्रवार देर रात करीब एक बजे उसे भारत लाया गया. उन्होंने बताया कि मुंबई पुलिस ने विक्रोली पुलिस थाना में उसके खिलाफ 307 (हत्या का प्रयास), 120-बी (साजिश) और मकोका सहित सुसंगत धाराओं के तहत दर्ज मामलों में से एक में उसे गिरफ्तार किया. अपराध शाखा की रंगदारी रोधी प्रकोष्ठ (एईसी) ने उसे अपनी हिरासत में लिया है.

Related Articles

Back to top button