केजरीवाल के इस्तीफे की मांग को लेकर मार्च; 57 भाजपा कार्यकर्ता हिरासत में लिये गये

नयी दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की मांग करते हुए मंगलवार को यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा विरोध मार्च निकाले जाने के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं/नेताओं पर पानी की बौछार की गयी तथा पार्टी के कम से कम 57 सदस्यों को हिरासत में ले लिया गया. उनमें प्रदेश इकाई के प्रमुख भी थे.

आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक केजरीवाल को 21 मार्च को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आबकारी नीति से संबद्ध धनशोधन मामले में गिरफ्तार किया था. बाद में दिल्ली की एक अदालत ने उन्हें 28 मार्च तक के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया था. भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद हर्षवर्धन ने कहा कि केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है इसलिए उन्हें नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए तथा अपनी जिम्मेदारी किसी और को सौंप देनी चाहिए.

भाजपा कार्यकर्ता एवं नेता फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के पास जमा हुए और उन्होंने दिल्ली सचिवालय तक मार्च निकाला. इस दौरान वे ‘केजरीवाल शर्म करो’ और ‘केजरीवाल इस्तीफा दो’ जैसे नारे लगा रहे थे. उनके हाथों में पार्टी के झंडे थे. पुलिस ने कहा कि कुछ कार्यकर्ता सचिवालय की ओर कूच करते हुए बैरीकेड पर चढ़ गये.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ” प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछार की गयी. बहादुरशाह जफर मार्ग के समीप उनमें से कुछ ने जब बैरीकेड को लांघकर आगे बढ़ने की कोशिश की तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया.” उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा समेत करीब 57 भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं को हिरासत में ले लिया गया.

भाजपा ने उसी दिन प्रदर्शन किया है जब ‘आप’ की केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में प्रधानमंत्री निवास का ‘घेराव’ करने के लिए लोक कल्याण मार्ग पर पर जाने की योजना थी. लेकिन पटेल चौक पर कई प्रदर्शनकारी आप नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया जहां वे प्रधानमंत्री आवास की ओर कूच करने के लिए इकट्ठा हुए थे.

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में रहते हुए अपने मंत्रियों को निर्देश जारी करने के लिए केजरीवाल की आलोचना करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय सचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि एक मुख्यमंत्री हिरासत में रहते हुए निर्देश जारी नहीं कर सकता. उन्होंने आरोप लगाया कि ‘आप’ नौटंकी कर रही है. सिरसा ने कहा कि उन्होंने इस मामले में दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना से शिकायत कर सख्त कार्रवाई की मांग की है.

भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा, ” कोई सरकार जेल से नहीं चल सकती है. आप जेल से सरकार नहीं, गिरोह चला सकते हैं. सरकार संविधान के अनुसार ही चल सकती है.” ईडी की हिरासत में बंद केजरीवाल द्वारा जारी किये गये नवीनतम आदेश का उल्लेख करते हुए स्वास्थ्य मंत्री और आप नेता सौरभ भारद्वाज ने मंगलवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री ने यह सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किये हैं कि सभी सरकारी अस्पतालों एवं मोहल्ला क्लीनिक में दवाइयां एवं जांच उपलब्ध हों. इससे पहले जल मंत्री आतिशी ने 24 मार्च को कहा था कि मुख्यमंत्री ने ईडी की हिरासत में रहते हुए उन्हें दिल्ली के कुछ इलाकों में पानी एवं सीवर से संबंधित समस्याओं को हल करने का निर्देश दिया है.

Related Articles

Back to top button