मोदी कभी छुट्टी नहीं लेते जबकि राहुल विदेश में अवकाश मनाते, दोनों का कोई मुकाबला नहीं : शाह

बेंगलुरु. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और विपक्षी दलों के ‘इंडिया’ गठबंधन में कोई मुकाबला नहीं है. उन्होंने ‘इंडिया’ गठबंधन को ‘परिवारवादियों’ और भ्रष्टाचारियों’ का गठबंधन करार दिया और भरोसा जताया कि भाजपा ‘400 पार'(लोकसभा चुनाव में 400 से अधिक सीट जीतने का लक्ष्य) के लक्ष्य को प्राप्त कर लेगी. केंद्रीय गृह मंत्री ने भरोसा जताया कि भाजपा कर्नाटक की सभी 28 लोकसभा सीट पर जीत दर्ज करेगी.

शाह ने कहा कि भाजपा नीत राजग और कांग्रेस नीत ‘इंडिया’ गठबंधन का कोई मुकाबला नहीं है. उन्होंने विपक्षी गठबंधन पर भ्रष्टाचार और घोटालों में लिप्त होने का आरोप लगाया. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कभी छुट्टी नहीं लेने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कांग्रेस नेता राहुल गांधी से कोई मुकाबला नहीं, जो गर्मी शुरू होते ही विदेश का दौरा करते हैं.

शाह ने कहा, ”आगामी लोकसभा चुनावों में, एक तरफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा और राजग है तथा हम मोदी के नेतृत्व में चुनाव मैदान में हैं जबकि दूसरी तरफ ‘परिवारवादियों’ और ‘भ्रष्टाचारियों’ का ‘इंडिया’ गठबंधन है.” केंद्रीय गृहमंत्री ने बेंगलुरु में पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने देश भर के लगभग 60 प्रतिशत राज्यों का दौरा किया है और दावा किया कि हर जगह लोग ‘मोदी, मोदी’ के नारे लगा रहे हैं.

उन्होंने कहा, ”प्रधानमंत्री मोदी ने इस बार भाजपा कार्यकर्ताओं के समक्ष ‘400 पार’ का लक्ष्य रखा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में कर्नाटक की जनता ने 43 प्रतिशत मत और 17 सीट हमें दी थी. 2019 के चुनाव में यहां की जनता ने 51 प्रतिशत मत के साथ हमें 25 सीट दी. लेकिन इस बार मेरी लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं से आग्रह है कि वे 60 प्रतिशत मत और सभी 28 सीट पर भाजपा गठबंधन की जीत सुनिश्चित करें.” शाह उत्तर बेंगलुरु, बेंगलुरु दक्षिण, बेंगलुरु ग्रामीण और चिक्कबल्लापुर लोकसभा क्षेत्र के ‘शक्ति केंद्र’ (तीन से पांच मतदान बूथ का समूह) नेताओं और कार्यकर्ताओं को यहां के पैलेस ग्राउंड में संबोधित कर रहे थे. भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि वह पूरे भरोसे से कह सकते हैं कि कर्नाटक की सभी 28 लोकसभा सीट पर भाजपा- जनता दल (सेक्युलर) गठबंधन जीतेगा. उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस को खाता नहीं खोलने नहीं देंगे.

शाह ने दावा किया, ”एक ओर नरेन्द्र मोदी हैं जो लगातार 23 साल से मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं; इन 23 साल में विपक्ष मोदी के खिलाफ 25 पैसे के भ्रष्टाचार का भी आरोप नहीं लगा सकता.” उन्होंने कहा, ” मोदी ने 23 साल में पारर्दिशता का उदाहरण देश में स्थापित किया है. दूसरी ओर भ्रष्टाचार का ‘घमंडिया’ गठबंधन है.” शाह ने दावा किया कि मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी नीत कांग्रेस के 10 साल के शासन के दौरान 12 लाख करोड़ रुपये का घोटाले और भ्रष्टाचार हुए.

उन्होंने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री डी.के.शिवकुमार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, ” कर्नाटक की जनता भ्रष्टाचार नहीं चाहती.” कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) शासन के दौरान मीडिया में विभिन्न घोटालों जैसे ”कोयला आवंटन घोटाला, राष्ट्रमंडल खेल, 2जी, आईएनएक्स मीडिया, एयरसेल, नौकरी के बदले जमीन, जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन”की खबरों की सूची देते हुए शाह ने कहा कि 12 लाख करोड़ रुपये के कथित घोटाले में संलिप्त कांग्रेस मोदी से मुकाबला कर रही है.

उन्होंने कहा, ”देश की जनता के सामने एक स्पष्ट विकल्प है: एक तरफ नरेन्द्र मोदी हैं जिन्होंने 23 वर्ष तक बिना एक पैसे के भ्रष्टाचार के प्रशासन चलाया, जबकि दूसरी तरफ कांग्रेस है जो 12 लाख करोड़ रुपये के घोटालों में शामिल थी.” शाह ने दावा किया, ”इन लोगों को जब भी सत्ता मिलती है, वे न केवल भ्रष्टाचार में लिप्त होते हैं, बल्कि उनका ध्यान कभी भी लोगों की सेवा करने पर केंद्रित नहीं होता है.” शाह ने कहा कि वह गत 40 साल से मोदी के साथ काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मोदी शायद दुनिया के एकमात्र व्यक्ति हैं जो 23 साल तक मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री रहे लेकिन एक दिन की भी छुट्टी नहीं ली.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ”उन्होंने (मोदी ने) हमेशा भारत के लिए काम किया, एक भी दिन की छुट्टी नहीं ली. दूसरी ओर, राहुल ‘बाबा’ गर्मी शुरू होते ही विदेश चले जाते हैं. हर छह महीने में कांग्रेस उन्हें ढूंढती रहती है.” उन्होंने कहा, ”कोई मुकाबला नहीं है. पूरा देश एकजुट होकर नरेन्द्र मोदी के साथ खड़ा है.” इस दौरान भाजपा के अनुभवी नेता बीएस येदियुरप्पा, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष बी वाई विजयेंद्र , कर्नाटक में पार्टी के चुनाव प्रभारी राधामोहन दास अग्रवाल, केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी और कर्नाटक विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष आर अशोक सहित अन्य शीर्ष नेता मौजूद रहे. शाह ने कहा कि मोदी ने सुनिश्चित किया कि अयोध्या में रामलला टेंट से निकलकर विशाल मंदिर में निवास करें. उन्होंने कांग्रेस पर ‘इस मामले को दशकों तक लटकाए’ रखने का आरोप लगाया.

उन्होंने कांग्रेस नेताओं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और एम मल्लिकार्जुन खरगे पर ‘तुष्टीकरण की राजनीति’ की वजह से आमंत्रण दिए जाने के बावजूद अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल नहीं होने का आरोप लगाया. शाह ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) का भी बचाव किया, और दावा किया कि मोदी प्रशासन ने देश में नक्सलवाद और आतंकवाद को समाप्त कर दिया है, और उरी और पुलवामा आतंकवादी हमलों पर त्वरित जवाबी कार्रवाई को याद किया.

केंद्रीय मंत्री ने रेखांकित किया कि मोदी सरकार के तहत देश की अर्थव्यवस्था दुनिया की 11वीं अर्थव्यवस्था से पांचवी अर्थव्यवस्था बनी. उन्होंने कहा, सुनिश्चित करें कि मोदी को ‘400पार’ मिले और उन्हें तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाएं. मोदी की गारंटी है कि भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगी.” ‘इंडिया’गठबंधन द्वारा हाल में आयोजित ‘लोकतंत्र बचाओं और संविधान बचाओ’ रैली पर तंज कसते हुए कहा, ” लोकतंत्र को क्या हुआ है? लोकतंत्र को कुछ नहीं हुआ है और उनकी रैली का लक्ष्य भ्रष्टचार को बचाना या संरक्षण देना था.”

उन्होंने कहा, ”कान खोलकर सुन लें, हमने 2014 में कहा था कि (संप्रग के दौरान) 12 लाख करोड़ रुपये के घोटाले और भ्रष्टाचार में शामिल लोगों को सलाखों के पीछे डाला जाएगा. मुझे बताएं कि भ्रष्टाचार में शामिल लोगों को सलाखों के पीछे डाला जाना चाहिए या नहीं?” शाह ने राहुल गांधी और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उनके दलों के नेताओं और मंत्रियों की भ्रष्टाचार में कथित संलिप्तता और एजेंसियों द्वारा छापे के दौरान जब्त की गई धनराशि की ओर इशारा किया.

Related Articles

Back to top button