दो सगे भाईयों की बेरहमी से हत्या, पुलिस ने आरोपी को मार गिराया…

बदायूं: बदायूं के सिविल लाइंस की बाबा कॉलोनी में मंगलवार शाम एक नाई ने घर में घुसकर तीसरी मंजिल पर खेल रहे दो मासूमों की छुरी से गला रेतकर हत्या कर दी। दोनों बच्चे सगे भाई थे। आरोपी ने मझले भाई पर भी हमला किया लेकिन वह बचकर भाग निकला। पुलिस ने घंटे भर में आरोपी की घेराबंदी की और एनकाउंटर में उसे मार गिराया। इस पूरे घटनाक्रम के बाद बदायूं में शांति लौट आई है।

मासूम बच्‍चों की हत्‍या के बाद गुस्‍साई भीड़ ने तोड़फोड़ और आगजनी की थी। बुधवार की सुबह पुलिस फ्लैग मार्च कर जनता को सुरक्षा व्‍यवस्‍था की मुस्‍तैदी का संदेश दिया। इस बीच मासूम बच्‍चों के पिता ने अपने बच्‍चों के कत्‍ल पर हैरानी जताई है। उनका कहना है कि कातिल नाई से उनका कोई लेना-देना नहीं था। वह कभी-कभार वहां बाल कटाने जाते थे। नाई ने इतना बड़ा कांड क्‍यों किया यह उनकी समझ में नहीं आ रहा है।

बाबा कॉलोनी निवासी विनोद ठाकुर जल जीवन मिशन योजना में संस्थागत ठेकेदार हैं। उन्‍होंने कहा कि वह काम के सिलसिले में ज्‍यादातर बाहर रहते हैं। घटना के वक्‍त घर में उनकी मां मुन्नी देवी, पत्नी संगीता, बेटा आयुष (उम्र 12 वर्ष), पीयूष (10 वर्ष) और आहान (6 वर्ष) थे। तीनों बच्चे तीसरी मंजिल पर खेल रहे थे और महिलाएं घर में थीं। घर के सामने ही मझिया रोड पर जाबिद और उसके भाई साजिद का सैलून है। शाम पांच बजे दोनों भाइयों ने दुकान बंद की और फिर साजिद उनके घर पहुंच गया।

साजिद ने विनोद की पत्नी संगीता से चाय मांगी। इसके बाद वह तीसरी मंजिल पर चला गया। वहां उसने तीनों बच्‍चों को मार डालने की कोशिश की। छुरी से गला काटकर आयुष और आहान की हत्‍या करने में वह कामयाब भी हो गया। मझला भाई पीयूष भी हमले में जख्मी हो गया। वह शोर मचाते हुए वहां से भाग गया। पीयूष ने नीचे जाकर लोगों को घटना के बारे में जानकारी दी तो सब हैरान रह गया।

घटना के बाद साजिद फरार हो गया। उधर, जैसे ही लोगों के बीच इस घटना की खबर फैली क्षेत्र का माहौल तनावपूर्ण हो गया। दो समुदाय से जुड़ा मामला होने के कारण कुछ ही देर में स्थिति बिगड़ने लगी। आक्रोशित लोगों ने इलाके में कई सैलून में तोड़फोड़ कर चौकी के सामने आगजनी कर दी

घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस तत्‍काल हरकत में आई। घंटे भर के अंदर आरोपी साजिद की घेराबंदी हुई। उसने पुलिस पर फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में मारा गया। बदायूं के एसएसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि आरोपी साजिद कल शाम करीब 7:30 बजे घर में घुसा।

छत पर गया जहां बच्चे खेल रहे थे। उसने दोनों बच्चों पर हमला किया और उनकी हत्या कर दी। फिर वह नीचे आया जहां भीड़ ने उसे पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह भाग निकला। पुलिस टीमें तब हरकत में आईं जब उन्हें पता चला कि आरोपी भाग गया है।

आरोपी ने पुलिस पर गोलीबारी की और जवाबी कार्रवाई में मारा गया। हत्या का हथियार और रिवॉल्वर है बरामद कर लिया गया है। मृतक बच्चों के परिवार ने एफआईआर में आरोपी के भाई जावेद का भी नाम लिया है। उसकी तलाश में टीमें काम कर रही हैं और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

एसएसपी ने बताया कि साजिद और जावेद का स्‍थानीय स्‍तर पर कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है। परिवार के लोगों ने बताया है कि आरोपी ने मृतक बच्चों के पिता से 5,000 रुपये मांगे थे। रुपए उसे मिल भी गए थे। उसने यह घटना क्‍यों की यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button