जेल में दिल्ली के मुख्यमंत्री का कार्यालय स्थापित करने के लिए अदालत से अनुमति मांगेंगे: भगवंत मान

नयी दिल्ली. आम आदमी पार्टी (आप) के नेता एवं पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शनिवार को कहा कि अगर दिल्ली के उनके समकक्ष अरविंद केजरीवाल को जेल भेजा जाता है, तो वे सरकार चलाने के वास्ते वहां उनका कार्यालय स्थापित करने के लिए अदालत से अनुमति मांगेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि आप में केजरीवाल की जगह कोई नहीं ले सकता.

यह पूछे जाने पर कि यदि केजरीवाल को न्यायिक हिरासत में भेजा जाता है तो वह अपनी सरकार कैसे चलाएंगे, इसपर मान ने ‘पीटीआई-वीडियोज’ से कहा, ”ऐसा कहीं नहीं लिखा है कि सरकार जेल से नहीं चलाई जा सकती.” प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दिल्ली आबकारी नीति मामले में गिरफ्तार किए गए केजरीवाल को अदालत ने 28 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेज दिया था. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने केजरीवाल के इस्तीफे की मांग की है.

मान ने कहा, “कानून कहता है कि वह दोषी पाए जाने तक जेल से काम कर सकते हैं. हम जेल में कार्यालय स्थापित करने के लिए उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालय से अनुमति मांगेंगे और सरकार काम करेगी.” उन्होंने कहा कि आप में केजरीवाल की जगह कोई नहीं ले सकता, क्योंकि उन्होंने भ्रष्टाचार रोधी आंदोलन से पार्टी बनाई है और वह इसके वरिष्ठ संस्थापक सदस्य हैं.

Related Articles

Back to top button