पाकिस्तान में आत्मघाती बम विस्फोट में पांच चीनी श्रमिकों की मौत के मामले में 12 लोग गिरफ्तार

पाकिस्तान में मारे गए पांच चीनी नागरिकों के शव पाक सैन्य विमान से वुहान पहुंचाए गए

इस्लामाबाद/बीजिंग. पिछले सप्ताह पाकिस्तान के अशांत खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में आत्मघाती बम हमले में पांच चीनी नागरिकों और उनके पाकिस्तानी चालक की मौत के सिलसिले में कम से कम 12 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है जिनमें हमले का ‘मास्टरमाइंड’ शामिल है. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी.

‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की खबर के अनुसार खैबर पख्तूनख्वा आतंकवाद निरोधक विभाग (सीटीडी) ने हमले के मामले में जांच शुरू कर दी है और इसके लिए प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान आतंकी समूह को जिम्मेदार ठहराया है. हालांकि किसी संगठन ने अभी तक आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. हमला उस समय हुआ जब चीनी इंजीनियर इस्लामाबाद से दासू स्थित अपने शिविर लौट रहे थे. सीटीडी की सोमवार को जमा की गई एक रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों ने इस संबंध में छापेमारी की और एक दर्जन से अधिक आतंकवादियों और हमले में मदद करने वालों को गिरफ्तार किया.

सूत्रों ने बताया कि अधिकारियों ने हमले के ‘मास्टरमाइंड’ हजरत बिलाल को भी गिरफ्तार कर लिया है जो अफगानिस्तान से आत्मघाती बम हमलावर को लाया था. बिलास चीनी नागरिकों पर पूर्व में हुए हमलों के मामले में भी वांछित है. अधिकारियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि हिरासत में लिए गए कुछ संदिग्धों ने विस्फोटक से भरी कार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के शांगला जिले में पहुंचाया था, जहां एक आत्मघाती हमलावर ने इसे दूसरे वाहन से टकरा दिया, जिससे चीनी नागरिकों की मौत हो गई.

पाकिस्तान में मारे गए पांच चीनी नागरिकों के शव पाक सैन्य विमान से वुहान पहुंचाए गए

पाकिस्तान में आत्मघाती बम हमले में मारे गए चीन के पांच र्किमयों के शवों को सोमवार को एक विशेष पाकिस्तानी सैन्य विमान से वुहान लाया गया. इस बीच बीजिंग ने आतंकियों के हमले बढ़ने के मद्देनजर सीपीईसी परियोजनाओं में कार्यरत अपने सैकड़ों श्रमिकों की सुरक्षा के लिए उपाय बढ़ाने की योजना बनाई है.

पाकिस्तान के अशांत पश्चिमोत्तर प्रांत खैबर-पख्तूनख्वा में 26 मार्च को विस्फोटक से भरे एक वाहन ने एक बस को टक्कर मार दी थी, जिससे बस में सवार कम से कम पांच चीनी नागरिकों सहित छह व्यक्तियों की मौत हो गई. यह जानकारी अधिकारियों ने दी.
साठ अरब अमेरिकी डॉलर वाले चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के तत्वावधान में चल रही कई परियोजनाओं में हजारों चीनी कर्मी पाकिस्तान में काम कर रहे हैं.

चीन ने अपने नागरिकों की मौत के मामले में जांच के लिए गत शुक्रवार को अपने अधिकारियों को पाकिस्तान भेजा था और कई चीनी कंपनियों ने अशांत उत्तर-पश्चिम क्षेत्र में जलविद्युत परियोजनाओं पर काम रोक दिया है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने यहां संवाददाताओं से कहा, ”पाकिस्तान में दासू परियोजना पर आतंकवादी हमले में मारे गए पांच चीनी नागरिकों के शव पाकिस्तानी सैन्य विमान से आज चीन वापस लाए गए.” पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने चीनी नागरिकों पर जानलेवा आतंकी हमले के मामले में संयुक्त जांच का आदेश दिया था.

बीजिंग ने इस्लामाबाद पर जोर दिया था कि हमलावरों की खोजबीन तेज की जाए और चीनी नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाये जाएं. वांग ने कहा कि जो कुछ हुआ, उसकी जांच करने, अपराधियों और हमले के पीछे के लोगों को न्याय के कठघरे में लाने और पाकिस्तान में चीनी र्किमयों की परियोजनाओं और संस्थानों की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास करने में चीन पूरी दृढ़ता और प्रयास के साथ पाकिस्तान का समर्थन करता है. दासू जलविद्युत परियोजना पर काम कर रहे चीनी श्रमिकों पर आत्मघाती बम हमले का यह दूसरा मामला है.

Related Articles

Back to top button