कंझावला घटना: छठे आरोपी को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया

कंझावला घटना: युवती की सहेली को जांच में शामिल होने के लिए बुलाया गया

नयी दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी में एक युवती को कार से टक्कर मारे जाने के बाद लगभग दो घंटे तक सड़क पर घसीटने के मामले में गिरफ्तार छठे आरोपी को यहां की एक अदालत ने शुक्रवार को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. पुलिस ने आशुतोष भारद्वाज को दिन में गिरफ्तार कर लिया था. मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट सान्या दलाल ने दिल्ली पुलिस द्वारा पांच दिन की रिमांड मांगे जाने के बाद उन्हें तीन दिन की हिरासत में पूछताछ की अनुमति दी.

आरोपी को पुलिस हिरासत में दिये जाने का अनुरोध करते हुए पुलिस ने कहा कि भारद्वाज ने चालक की पहचान के बारे में झूठा बयान दिया और मामले में प्रत्येक आरोपी की भूमिका और संबंध स्थापित करने के लिए आरोपी से हिरासत में पूछताछ आवश्यक है.
जांच अधिकारी (आईओ) ने कहा कि भारद्वाज कार का ‘‘संदिग्ध चालक’’ है, लेकिन उसने गलत तरीके से दीपक का नाम उस व्यक्ति के रूप में बताया कि वह दुर्घटना के समय वाहन चला रहा था.

उन्होंने कहा कि सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक कार में पांच लोग दिख रहे थे. उन्होंने कहा कि फुटेज धुंधली थी, इसलिए कार में भारद्वाज की मौजूदगी को उसके कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) के जरिए स्थापित करना पड़ा. उन्होंने कहा कि एक अन्य आरोपी अंकुश, जो एक ‘‘मुख्य साजिशकर्ता’’ है, फरार है और भारद्वाज का अन्य सह-आरोपियों के साथ सामना कराया जाना है.

अंजलि ंिसह (20) की मौत के आरोपी पांच लोगों ने आशुतोष से कार कथित तौर पर ली थी. पहले गिरफ्तार किए गए लोगों में दीपक खन्ना, अमित खन्ना, कृष्ण, मिथुन और मनोज मित्तल शामिल हैं. गौरतलब है कि कंझावला में रविवार की तड़के अंजलि ंिसह (20) की स्कूटी को एक कार ने टक्कर मार दी थी और युवती को लगभग 12 किलोमीटर घसीटती हुई ले गई. घटना में युवती की मौत हो गई थी. अदालत ने बृहस्पतिवार को पांचों आरोपियों की पुलिस हिरासत की अवधि चार दिन के लिए बढ़ा दी थी.

युवती की सहेली को जांच में शामिल होने के लिए बुलाया गया

दिल्ली पुलिस ने कंझावला में कार से कथित तौर पर घसीटे जाने की घटना में जान गंवाने वाली युवती के साथ स्कूटी पर सवार उसकी सहेली को मामले की जांच में शामिल होने के लिए बुलाया है. कंझावला में रविवार की रात अंजली सिंह (20) की स्कूटी को एक कार ने टक्कर मार दी और युवती को सुल्तानपुरी से कंझावाला तक करीब 12 किलोमीटर घसीटते हुई ले गई. घटना में युवती की मौत हो गई थी. घटना के समय युवती के साथ मौजूद उसकी सहेली निधि ने कहा था कि वह स्कूटी से गिरने के बाद ‘‘डर’’ के कारण मौके से भाग गई थी.

पुलिस को सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगालने के बाद निधि का पता चला था. उसने मंगलवार को पुलिस के समक्ष अपना बयान दर्ज करावाया था. दिल्ली पुलिस आयुक्त (बाहरी) हरेन्द्र कुमार सिंह ने कहा, ‘‘ ऐसी खबरें हैं कि निधि को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. यह स्पष्ट किया जाता है कि उसे जांच में शामिल होने के लिए बुलाया गया है.’’ इससे पहले पुलिस ने बताया कि उसने मामले में एक और आरोपी आशुतोष को गिरफ्तार किया है.

हादसे के समय कथित तौर पर कार में सवार दीपक खन्ना (26), अमित खन्ना (25), कृष्ण (27), मिथुन (26) और मनोज मित्तल को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. आशुतोष पर आरोपियों को बचाने की कोशिश करने का आरोप है. इसी आरोप में पुलिस आरोपी अमित खन्ना के भाई अंकुश खन्ना की भी तलाश कर रही है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button