यह गुजरात और इसके लोगों को गाली देने वालों को सबक सिखाने का समय है: प्रधानमंत्री

जूनागढ़. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को गुजरात के लोगों से कहा कि उन लोगों को सबक सिखाने का समय आ गया है जो बार-बार गुजरात और इसके लोगों को गाली देते हैं तथा उनका अपमान करते हैं. किसी का नाम लिए बिना उन्होंने राज्य के लोगों से “निराशावादियों” और “झूठ बोलने वालों” से दूर रहने का आग्रह किया.

वह 4,155 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की शुरुआत के बाद सौराष्ट्र क्षेत्र के जूनागढ़ शहर में एक रैली को संबोधित कर रहे थे.
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. मोदी ने भीड़ से पूछा, “अगर भारत से कोई कुछ हासिल करता है या सफल होता है, तो एक भारतीय के रूप में आप गर्व से भर जाएंगे या नहीं? अगर दक्षिण भारत के वैज्ञानिक इसरो में सफल होते हैं तो आप खुश होंगे या नहीं? अगर हरियाणा का कोई युवा ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतता है तो आप खुश होंगे या नहीं?”

उन्होंने कहा, “बेशक, कोई भी भारतीय देश में कहीं भी रहने वाले किसी भी अन्य भारतीय की उपलब्धियों से बहुत खुश होगा.” प्रधानमंत्री ने कहा, “पिछले दो दशकों से हमने देखा है कि जब गुजरात के लिए कुछ अच्छा होता है या कोई गुजराती कुछ हासिल करता है तो विकृत मानसिकता वाले लोग इसे पसंद नहीं करते. वे गुजरात का अपमान करते हैं और गुजराती लोगों को गाली देते हैं.” उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दल सोचते हैं कि अगर वे गुजरात और गुजरातियों को गाली नहीं देंगे तो उनका काम अधूरा रहेगा.

मोदी ने कहा, ‘‘क्या आपको नहीं लगता कि गुजरात और इसके लोगों को दिन-रात गाली देने वालों तथा उनका अपमान करने वालों को सबक सिखाने का समय आ गया है. क्या गुजरात की छवि खराब करने वालों को हमें बर्दाश्त करना चाहिए?’’ उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य के लोगों को गाली नहीं दी जानी चाहिए और उनका अपमान नहीं किया जाना चाहिए.

मोदी ने कहा, “हम सभी को ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना को बनाए रखने के लिए काम करना चाहिए. गुजरात के लोगों को निराशावादियों के साथ ही साथ झूठ बोलने वालों से भी सावधान रहने की जरूरत है.’’ उनकी टिप्पणी आम आदमी पार्टी की गुजरात इकाई के अध्यक्ष गोपाल इटालिया के कथित तौर पर मोदी की मां का मजाक उड़ाने का एक वीडियो सत्तारूढ़ भाजपा द्वारा जारी किए जाने के कुछ दिनों बाद आई है.

पूर्व में भी प्रधानमंत्री ने कांग्रेस नेताओं द्वारा उन पर निशाना साधे जाने को लेकर उन्हें आड़े हाथों लिया था. दिन के दौरान, मोदी ने एक तटीय राजमार्ग के सुधार और संपर्क सड़कों के निर्माण के लिए एक परियोजना की आधारशिला रखी. राजमार्ग परियोजना के पहले चरण, जो वलसाड में उमरगाम को कच्छ जिले के लखपत से जोड़ेगा, में 13 जिलों में 270 किमी से अधिक की दूरी शामिल होगी.

प्रधानमंत्री ने दो जलापूर्ति परियोजनाओं और कृषि उत्पादों के लिए एक गोदाम परिसर के निर्माण की आधारशिला भी रखी. उन्होंने पड़ोसी पोरबंदर जिले के माधवपुर गांव में प्रसिद्ध श्री कृष्ण रुक्मणी मंदिर के समग्र विकास के लिए एक परियोजना की आधारशिला भी रखी और पोरबंदर फिशरी हार्बर में रखरखाव ड्रेंिजग कार्य की शुरुआत की.

Related Articles

Back to top button