इंग्लैंड की निराशा खत्म, ऑफ स्पिनर शोएब बशीर को भारत का वीजा मिला

लंदन/हैदराबाद. इंग्लैंड के पाकिस्तानी मूल के ऑफ स्पिनर शोएब बशीर को भारत के खिलाफ शुरू होने वाली पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला में खेलने के लिए बुधवार को वीजा मिल गया जिससे दौरा करने वाली टीम का हताशाजनक इंतजार खत्म हुआ जिसके कप्तान बेन स्टोक्स ने इस विलंब को निराशाजनक बताया था.

इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने यह घोषणा की. ईसीबी ने हैदराबाद में गुरुवार से शुरू होने वाले पहले टेस्ट की पूर्व संध्या पर ‘एक्स’ पेज पर लिखा, ”शोएब बशीर को अब वीजा मिल गया है और वह इस हफ्ते के अंत में भारत में टीम के साथ शामिल होने के लिए जायेंगे. हमें खुशी है कि मामला सुलझ गया. ” भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट श्रृंखला से पहले बशीर को वीजा मिलने में विलंब से विवाद खड़ा हो गया. 20 वर्ष के आफ स्पिनर बशीर इंग्लिश काउंटी टीम समरसेट के लिये खेलते हैं . वह अबुधाबी में टीम के साथ थे लेकिन वीजा नहीं मिलने से भारत नहीं जा सके और उन्हें इंग्लैंड लौटना पड़ा . बशीर पाकिस्तानी मूल के हैं लेकिन उनका जन्म सरे में हुआ था.

स्टोक्स ने विलंब को निराशाजनक बताया था जबकि ब्रिटिश सरकार के प्रवक्ता ने इस युवा खिलाड़ी के साथ उचित बर्ताव की मांग की .
प्रथम श्रेणी क्रिकेट में छह मैचों में महज 10 विकेट लेने वाले बशीर का चयन हैरानी का सबब रहा . वह बृहस्पतिवार से शुरू हो रहे पहले टेस्ट में टीम में जगह बनाने के दावेदार नहीं थे .

स्टोक्स ने पहले टेस्ट से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,’ जब मुझे अबुधाबी में यह खबर मिली तो मैने कहा था कि बशीर को वीजा मिलने तक हमें भारत नहीं जाना चाहिये . लेकिन वह जज्बाती प्रतिक्रिया थी, व्यवहारिक नहीं . मैं बहुत दुखी हूं कि बशीर को यह सब झेलना पड़ रहा है .” वहीं ब्रिटिश सरकार के एक अनाम प्रवक्ता ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से कहा कि यह पहली बार नहीं हुआ है जब पाकिस्तानी मूल के नागरिक को भारतीय वीजा मिलने में विलंब हुआ है .

उन्होंने कहा ,”इस मसले की तफ्सील से जानकारी भारत सरकार और शोएब बशीर के पास है . लेकिन हम चाहेंगे कि भारत वीजा प्रक्रिया में ब्रिटिश नागरिकों के साथ उचित बर्ताव करे . हम पहले भी पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिकों को लेकर यह मसला लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने उठा चुके हैं. ” भारत ने अभी तक इस मामले पर प्रतिक्रया व्यक्त नहीं की है .

स्टोक्स ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,” वह लंदन लौट गया है . उम्मीद है कि सप्ताह के अंत तक भारत में होगा . वीजा मामले को लेकर हमारी प्रतिक्रिया वही है . यह निराशाजनक स्थिति है .” उन्होंने कहा ,” हमने दिसंबर के मध्य में टीम का ऐलान किया और आज 24 जनवरी है और हमारे पास शोएब की गैर मौजूदगी का कारण नहीं है . उम्मीद है कि मसले का जल्दी हल निकलेगा और हम दौरे पर फोकस कर सकेंगे .” इससे पहले स्टोक्स ने यहां चुनिंदा ब्रिटिश मीडिया से कहा था ,” मैं नहीं चाहता था कि इंग्लैंड टेस्ट टीम में उसका पहला अनुभव इस तरह का होगा . वह काफी युवा है और मैं उसके लिये दुखी हूं .” भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि उन्हें उम्मीद है कि बशीर यहां आकर खेल सकेगा .

उन्होंने कहा ,” वह पहली बार यहां आ रहा है .वैसे मैं वीजा दफ्तर में बैठकर फैसले नहीं लेता लेकिन मुझे उम्मीद है कि वह आकर खेल सकेगा .” पिछले साल आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा को भी ऐसे हालात का सामना करना पड़ा था जब वह टेस्ट श्रृंखला के लिये बाद में आये थे .

लेकिन इस घटनाक्रम से स्टोक्स चिढ गए हैं . उन्होंने कहा ,” बतौर कप्तान मुझे हताशा हो रही है . हमने दिसंबर में ही टीम का ऐलान कर दिया था और अब बशीर को वीजा नहीं मिला . इन हालात का सामना करने वाला वह पहला क्रिकेटर नहीं है. मैने ऐसे कई खिलाड़ियों के साथ खेला है जिन्हें ऐसे हालात का सामना करना पड़ा है .” पाकिस्तानी मूल के साकिब महमूद भी 2019 में भारत ए के खिलाफ श्रृंखला के लिये नहीं आ सके थे. इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड के प्रबंध निदेशक (परिचालन) स्टुअर्ट हूपर भी बशीर को जल्दी वीजा दिलाने के लिये यूएई में थे लेकिन वीजा नहीं मिल सका.

Related Articles

Back to top button